इलायची का सेवन इन गंभीर रोगों से रखेगा दूर, जानें क्या हैं इसके लाभ..!

भारतीय मसालों की प्रशंसा देश में ही नहीं बल्कि बाहर भी होती है। भारतीय मसालों से खाने में जो स्वाद आता है उस स्वाद का हर कोई दीवाना होता है, वैसे भारतीय मसालों में कई प्रकार के अलग-अलग तरह के मसाले होते हैं मगर मसालो की रानी कही जाती है इलायची।

Loading...

इलायची खाने का स्वाद और सुगंध बढ़ाती है साथ ही साथ इसके उपयोग से कई रोगों से छुटकारा भी मिलता है। इसके नियमित सेवन से पथरी, गले का समस्या, कफ, गैस, बवासीर, उल्टी, पित्त, ह्दय रोगों जैसे गंभीर बीमारियों में भी आराम दिलाती है। तो चलिए आपको बताते हैं इलायची खाने के फायदे-

कील-मुहांसो से राहत

जिन लोगों की त्वचा आयली होती है उनको कील-मुहांसो की समस्या होती है। तो ऐसे में आप नियमित रूप से एक इलायची खाएं तथा उसके बाद गुनगुना पानी पी लें। ऐसा करने से आपके कील-मुहांसे नहीं निकलेंगे।

पेट रहेगा साफ

बता दें की पेट में समस्या होना आपको कई बीमारियों का शिकार बनाता है, यदि व्यक्ति का पेट साफ नहीं होता तो उसके बाल झड़ते हैं। और भी कई अन्य प्रकार की समस्या पैदा होती हैं। तो यदि आपको पेट साफ होने में परेशानी होती है तो सुबह उठें और एक इलायची का सेवन गुनगुने पानी के साथ करें। ऐसा करने से आपका पेट साफ रहेगा और किसी भी तरह की अन्य परेशानी नहीं होगी।

नींद ना आने की बीमारी

कई लोगों को काम के प्रेशर के कारण रातों को नींद नहीं आती है जिस वजह से वो कई बीमारियों का शिकार हो जाते हैं। यदि आपको भी नींद नहीं आती है तो रात को इलायची खाकर गर्म पानी पी लें ऐसा करने से आपको नींद अच्छी आएगी, साथ ही यदि आपको खर्राटे आते हैं तो उससे भी आराम मिलेगा।

पाचन में सुधार करता है

अधिकतर खाने की अनियमितता से या बाहर का खाना खाने से पेट की पाचन क्रिया पर असर पड़ता है। जिससे पेट में गैस, ऐंठ व अपच जैसी समस्याएं पैदा हो जाती हैं। ऐसे में रोजाना इलायची का सेवन गर्म पानी से करने से इस प्रकार की समस्या से निजात मिलता है।

मुंह से आने वाली बदबूं

अक्सर लोगों को दातों में कई प्रकार की दिक्कतें होती हैं जिस वजह से मुंह से बदबू आती है। इस तरह में इलायची का सेवन आपके मुंह को फ्रेश रखता है और साथ ही गायिकी के लिए भी इलायची के सेवन को वरदान माना गया है।

भूख को बढाता है

इलायची के सेवन से भूख ना लगने जैसी समस्या भी दूर होती हैं। यह मुंह के अल्सर को भी ठीक करता है और पाचन को भी दुरूस्त करता है।

खांसी में लाभ

इलायची का सेवन खांसी से भी राहत दिलाता है। आपको करना ये है कि इलायची के दानो को तवे पर भूनकर उनका पाउडर बना लें फिर इसके पाउडर को शहद या देसी घी में मिलाकर दिन में दो बार इसका इस्तेमाल करें, ऐसा करने से खांसी में राहत मिलेगी।

हिंचकी

अगर आपको बार-बार हिचकी आ रही है तो आप इलायची के दानों का पाउडर बना लें और उसे पानी में डालकर तब तक उबाले जब तक वो आधा ना हो जाए, इसे एक काढ़े की भाँति बना लें और थोड़े-थोड़े समय पर इसका सेवन करें। ऐसा करने से हिंचकी में राहत मिलेगी।

बवासीर

इस बीमारी में इलायची को पीसकर उसमें आधा कप पानी मिला कर रख लें और निरन्तर चार से पांच हफ्तों तक उसका सेवन करें, ऐसा करने से बावसीर की परेशानी से निजात मिलेगी।

चक्कर आना

छोटी इलायची का पानी के साथ काढ़ा बना लें फिर इसका उपयोग गुड़ के साथ सुबह और शाम को करें। ऐसा करने से चक्कर आने वाली समस्याएं दूर हो जाती हैं।

होठों का फटना

जब हम पानी कम पीते हैं तो इससे हमारे होठ फटते हैं तथा पपड़ी बनकर निकलती है। ऐसे में इलायची के दानों को पीसकर उसे मक्खन में मिलाकर रख लें और नियमित रूप से होठों पर लगाएं।

हाजमें को करे दुरूस्त

इलायची का सेवन आपके हाजमे को भी दुरूस्त करते हैं। इसलिए खाने के पश्चात इलायची को मिश्री के साथ मिलाकर खाना चाहिए, इलायची में पाए जाने वाले तत्व आपके शरीर में हाजमें की प्रक्रिया को दुरूस्त करते हैं।

फेफड़ों को रखे दुरूस्त

हरी इलायची के सेवन से फेफड़ों में रक्तसंचार तेजी से होता है जिससे सांस लेना, अस्थमाअस्थमा, जुकाम तथा खांसी जैसी समस्याओं से निजात मिलता है। बता दें कि हरी इलायची की तासीर गर्म होती है जो आपके शरीर को अंदर से गर्म रखती है। जिससे बलगम इत्यादि अंदर नहीं रह पाता और जकड़न कम हो जाती है।

दिल की धड़कनों को रखे दुरूस्त

इलायची में पोटैशियन, कैल्शियम, मैग्नीशियम जैसे खनिज पाए जाते हैं। जो खून के संचार को दुरूस्त रखती हैं और दिल की धड़कनों को दुरूस्त रखते हैं।

Loading...